January 16, 2021

अभाविप ने राष्ट्रीय युवा दिवस पर किया संगोष्ठी का आयोजन

भारत भूमि की आराधना ही युवाओं का लक्ष्य हो- तरूण बाजपेई

झांसी : अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद द्वारा आज स्वामी विवेकानंद की जयंती पर विभिन्न कार्यक्रम आयोजित किए गए।

लगभग दर्जन शैक्षणिक संस्थानों में स्वामी जी की प्रतिमा पर माल्यार्पण एवं उनके विचारों से संबंधित संगोष्ठी, साहित्यिक चर्चा, एवं प्रतियोगिताओं का आयोजन किया गया।

बुंदेलखंड विश्वविद्यालय के हिंदी विभाग के सभागार में आयोजित संगोष्ठी में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के कानपुर प्रांत के प्रांत मंत्री तरूण बाजपेई ने छात्रों को संबोधित करते हुए कहा कि स्वामी जी का पूरा जीवन राष्ट्रीय चेतना को जन जन तक पहुंचाने के लिए समर्पित था।

पश्चिमी की सभ्यता एवं उसके विचारों की काल्पनिक श्रेष्ठता को भारतीय दर्शन और संस्कृति पर अमेरिका के शिकागो में आयोजित धर्म सभा में दिए गए उनके व्याख्यान ने ध्वस्त कर दिया।

उन्होंने कहा कि स्वामी विवेकानंद ने युवाओं से आह्वान किया था कि 50 साल तक केवल राष्ट्र देवता की आराधना से ही भारतवर्ष को वैश्विक स्तर पर पुनः सिरमौर पर स्थापित किया जा सकता है।

हिंदी विभाग के विभागाध्यक्ष डॉक्टर पुनीत बिसारिया ने कहा कि शिकागो उद्बोधन के उपरांत ही भारतीय दर्शन, संस्कृति और विचार को वैश्विक स्तर पर स्वीकार्यता मिली।

आज विश्व के अनेक देशों में कई ऐसे संस्थान है जो वैश्विक स्तर पर स्वामी जी के विचारों और आध्यात्मिक दर्शन का प्रचार प्रसार कर रहे हैं। संगोष्ठी का संचालन अभाविप प्रांत कार्यकारिणी सदस्य आशुतोष मिश्रा ने किया।

इस अवसर पर अभाविप नगर अध्यक्ष डॉ श्रीहरि त्रिपाठी, जिला संयोजक अर्चित सोनी, जिला सह संयोजक आशुतोष उपाध्याय, प्रांत एग्री विजन प्रमुख सुधीर यादव, राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य एवं बुंदेलखंड विश्वविद्यालय इकाई अध्यक्ष समरेंद्र प्रताप सिंह, इकाई मंत्री प्रतीक द्विवेदी, हिमांशु राय, अंकित श्रीवास्तव, अमृत राज पटेल, वीरेंद्र कुमार, जयवर्धन मिश्रा, हर्षदीप, रुद्राक्ष के साथ ही अनेक छात्र छात्राएं उपस्थित रहीं।