September 29, 2020

नेवी के पूर्व अफसर को पीटने वाले सभी 6 शिवसेना कार्यकर्ताओं को मिली जमानत

महाराष्ट्र : मुंबई में सेवा से रिटायर हो चुके पूर्व नौसेना अधिकारी मदन शर्मा के साथ कथित तौर पर शिवसेना के गुंडों ने जिस तरह से मारपीट की उसकी पूरे देश में निंदा हो रही है. और महाराष्ट्र की उद्धव सरकार भी जिस तरह से आरोपियों पर मेहरबानी हो रही है, उससे सियासत और भी गरमा गई है.

आपको जानकर हैरानी होगी कि पूर्व सैनिक पर हमले करने वालों को महज 12 घंटे के अंदर ही टेबल जमानत दे दी गई. इन सभी कार्यकर्ताओं को पुलिस स्टेशन से ही जमानत मिल गई है.

इस पर पुलिस का तर्क है कि जो सेक्शन एफआईआर में था, उसमें 7 साल से कम की सज़ा है, इसलिए उन्हें पुलिस स्टेशन से ही जमानत मिल गई.

हालांकि इसके लिए कोरोना प्रोटोकॉल का पालन किया गया है. सभी 6 आरोपियों को कोविड प्रोटोकॉल के चलते 5 हजार के बांड पर जमानत दे दी गई है. लेक़िन पीड़ित परिवार ने पुलिस के इस तरह जमानत देने पर सवाल खड़े किए हैं.

बता दें कि महाराष्ट्र में शुक्रवार को शिवसेना के कार्यकर्ताओं ने 62 वर्षीय एक सेवानिवृत्त नौसेना अधिकारी मदन शर्मा को इसलिए पीट दिया, क्योंकि मदन शर्मा ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे पर बने एक कार्टून को सोशल मीडिया पर शेयर किया था.

इस मामले की शिकायत करते हुए मदन शर्मा ने बताया कि पहले उन्हें सोशल मीडिया से पोस्ट हाटने की धमकी वाले फोन आए. इसके बाद भी जब उन्होंने पोस्ट को डिलीट नहीं किया तो शुक्रवार की सुबह करीब 11:30 बजे उपनगर कांदिवली के लोखंडवाला कॉम्प्लेक्स इलाके में कुछ शिवसेना कार्यकर्ता पहुंचे और उन्होंने मदन शर्मा की पिटाई कर दी.

पुलिस को दी शिकायत में बताया गया कि पिटाई में मदन शर्मा की आंख में गंभीर चोट आ गई, जिसके बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा.

इस पूरे मामले पर मदन शर्मा ने कहा कि मैंने पूरी जिंदगी देश के लिए काम किया है. इस तरह की सरकार का अस्तित्व नहीं होना चाहिए.