December 5, 2020

सेनेटाइजर लगे हाथों से पटाखे जलाने से पूरी तरह बचें

मुख्य बातें
• सेनेटाइजर में 70 फीसद होती है एल्कोहल की मात्रा
• ज्वलनशील होता है एल्कोहल

वाराणसी : कोविड-19 से बचाव के लिये इन दिनों हम सभी जरूरी उपायों को अपना रहे हैं। इसमें मास्क पहनना, शारीरिक दूरी का पालन करना और हाथों को साबुन-पानी या सेनेटाइजर से बार-बार साफ करना हम सभी अपना रहे हैं, लेकिन अब त्योहारी सीजन आ गया है और दीपावली का त्योहार आने वाला है |दीपावली पर लोग पटाखे जलाते हैं।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. वीबी सिंह ने बताया कि कोविड काल में हमें सेनेटाइजर हाथों पर लगाने की आदत पड़ गई है, ऐसे में सेनेटाइजर लगाकर पटाखे जलाना घातक साबित हो सकता है।

यदि आप सेनेटाइजर लगाकर दिये या पटाखे जला रहे हैं तो आप हादसे के शिकार हो सकते हैं, क्योंकि सेनेटाइजर ज्वलनशील होता है। इससे आग लग सकती है।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने बताया कि कोविड-19 से बचाव के लिये प्रयुक्त होने वाले सेनेटाइजर में 70 फीसद एल्कोहल की मात्रा होती है, जिससे हमारे हाथों पर लगे सभी संक्रामक तत्व मर जाते हैं।

लेकिन यह ज्वलनशील भी होता है इसलिये दीपावली के अवसर पर इस बात का विशेष ध्यान रखें कि जब भी पटाखे जलायें तो हाथों पर सेनेटाइजर न लगा हो।

अगर इस दौरान कोई हादसा होता है तो जनपद के सभी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र , मंडलीय चिकित्सालय कबीर चौरा तथा एलबीएस अस्पताल, रामनगर में तत्काल संपर्क करें।

कबीर चौरा मंडलीय चिकित्सालय के वरिष्ठ फिजीशियन डॉ. एके सिंह ने बताया कि त्योहारों का सीजन चल रहा है। लोगों की खुशियों में किसी तरह का खलल न पड़े, इसके लिए हमें जागरुक और सुरक्षित रहना जरूरी है।

इसलिये भगवान की आरती करनी हो, मंदिर में मोमबत्ती या दिया जलाना हो, रसोई में काम करना हो तो सेनेटाइजर का इस्तेमाल बिल्कुल भी न करें।

इतना ही नहीं सेनेटाइजर को आग से दूर ही रखें। यह पेट्रोल और डीजल की तरह ही बेहद ज्वलनशील होता है। रसोई में काम करते समय महिलाएं ढीले कपड़े न पहनें, साड़ी व दुपट्टे का पल्लू का ख्याल रखें। फायर फर्स्ट एड किट को हमेशा अपने पास रखें।

इसके साथ ही छत पर कोई भी ऐसा सामान न रखें जिसमें आग लगने की सम्भावना हो। आग लगने पर तुरंत दमकल विभाग को 101 नंबर पर कॉल कर सूचित करें।

सेनेटाइजर इन परिस्थिति में न लगाएं

किचन में काम करते समय

दीपक जलाते समय

पटाखे चलाते समय

आग के नजदीक जाते समय