November 29, 2022

उपभोक्ताओं को बड़ी राहत: 25 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों ने पेट्रोल-डीजल पर कम किया वैट

नई दिल्ली : उपभोक्ताओं को राहत देने के लिए देश के 25 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों ने पेट्रोल और डीजल पर मूल्य वर्धित कर (वैट) कम किया है.

दीपावली की पूर्व संध्या पर तेल पर केंद्रीय उत्पाद शुल्क को कम करने के बाद केंद्र सरकार ने राज्यों से वैट कम करने की अपील की थी.

जिसके बाद कई राज्यों ने कदम उठाते हुए पेट्रोल और डीजल पर वैट कम कर दिए. पेट्रोल या डीजल पर वैट में कमी की घोषणा करने वाले अधिकांश राज्यों में या तो बीजेपी या उसके सहयोगियों का शासन है.

जानें किन राज्यों ने कम नहीं किए वैट

पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय ने कहा कि कई राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों ने पेट्रोल और डीजल पर वैट में कोई कमी नहीं की है.

पेट्रोल और डीजल पर वैट कम न करने वाले राज्यों में महाराष्ट्र, दिल्ली एनसीटी, पश्चिम बंगाल, तमिलनाडु, तेलंगाना, आंध्र प्रदेश, केरल, झारखंड, छत्तीसगढ़ और राजस्थान शामिल है.

वैट में कटौती के बाद कम हुए दाम

केंद्र और राज्य सरकार द्वारा क्रमशः केंद्रीय उत्पाद शुल्क और वैट में कमी की घोषणा के बाद पंजाब में पेट्रोल की कीमतों में सबसे अधिक कटौती दर्ज की गई है.

पंजाब में पेट्रोल की कीमत में 16.02 रुपये प्रति लीटर की कमी आई है, इसके बाद केंद्र शासित प्रदेश लद्दाख में 13.43 रुपये और कर्नाटक में 13.35 रुपये कम हो गए हैं.

यहां है सबसे सस्ता है पेट्रोल

अंडमान और निकोबार के उपभोक्ताओं को देश में सबसे सस्ती कीमत 82.96 रुपए प्रति लीटर पर पेट्रोल मिल रहा है, जबकि ईटानगर में पेट्रोल 92.02 रुपए प्रति लीटर मिल रहा है.

जयपुर में पेट्रोल की कीमत 117.45 रुपये प्रति लीटर है जबकि मुंबई के उपभोक्ताओं को यह मुंबई में 115.85 रुपये में मिल रहा है.

डीजल के लिए केंद्र शासित प्रदेश लद्दाख में कीमत में सबसे अधिक 19.61 रुपये प्रति लीटर की कमी आई है, इसके बाद कर्नाटक में 19.49 रुपये और पुडुचेरी में 19.08 रुपये की कमी आई है.

About Post Author