March 31, 2020

सीएचसी बड़ागांव में कोरोना पर की गयी माकड्रिल

मुख्य बातें

बड़ागाँव में बनाई गई कोविड समर्पित एल-1 इकाई

हर परिस्थिति संभालने के लिए स्वास्थ्य विभाग तैयार

झाँसी : कोरोना से जनपद को बचाने के लिए स्वास्थ्य विभाग हर संभव प्रयास कर रहा है। जनपद में वर्तमान में जिला अस्पताल और सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बड़ागाँव में कोविड समर्पित एल-1 इकाई बना दी गयी है।

आकस्मिक स्थित से कैसे निपटा जाये इसके लिए बड़ागाँव सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर बनाई गयी एल-1 इकाई पर मॉकड्रिल की गई। जिसमें काल्पनिक आपदा से निपटने के लिए अभ्यास किया गया।

मॉकड्रिल प्रक्रिया करा रहे क्वालिटी सलाहकार डॉ॰ मनीष खरे ने बताया कि सामुदायिक केंद्र पर स्थापित एल-1 इकाई में 25-25 सदस्यों की दो टीम बनाई गयी है जो 14 दिन ड्यूटि पर और 14 दिन आइसोलेशन में रहेंगे।

मॉकड्रिल के माध्यम से उनको कोरोना मरीज़ की जांच के दौरान मरीज़ से खुद को सुरक्षित रखने के तरीके बताए गए। फिलहाल अभी जनपद में कोई भी व्यक्ति वायरस कोविड 19 से ग्रस्त नहीं है। उन्होने स्पष्ट किया कि स्वास्थ्य विभाग हर परिस्थिति को संभालने के लिए तैयार है।

सामाजिक दूरी से कम होती है संक्रमण की संभावना: डीएचईआईओ

जनपद के मुख्य डाकघर में डाक और रेल डाक सेवा के करीब 50 कर्मचारियों को वायरस कोविड 19 से बचने के लिए प्रशिक्षण दिया गया।

प्रशिक्षण में क्वालिटी सलाहकार डॉ॰ मनीष खरे ने दफ्तर के दैनिक कार्यों में संक्रमण से बचने के उपायों के बारे में विस्तार से बताया। उन्होने बताया कि हाथों की स्वच्छता, श्वसन तंत्र की स्वच्छता और सामाजिक दूरी ही संक्रमण से बचने का असली उपाय है।

वहीं स्वास्थ्य शिक्षा अधिकारी डॉ॰ विजयश्री ने बताया कि वर्तमान में प्रधानमंत्री की ओर से लॉकडाउन की जो घोषणा की है, उसका मुख्य कारण सामाजिक दूरी बनाए रखना है। इसके जरिये एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में संक्रमण होने की संभावना की दर काफी कम हो जाती है।

प्रशिक्षण प्राप्त किए प्रधान पोस्ट-ऑफिस के प्रथम अधीक्षक आर बी श्रीवास्तव ने बताया कि यह प्रशिक्षण हमारे लिए बहुत उपयोगी है। इस आयोजन में कोरोना संबंधी कई गलतफहमियाँ दूर हुईं।

उन्होने बताया कि हमने सीखा कि इस वायरस से बचने के लिए सामाजिक दूरी बनाए रखना है, बार – बार हाथ धोना है। अपने हाथ से अपने चेहरे को बार बार नहीं छूना है।

अंत में डाक अधीक्षक अनूप व्यास ने सभी को धन्यवाद दिया। प्रशिक्षण के दौरान अधीक्षक रामशरन, प्रधान-अधिकारी जयनारायण, प्रबल डाक अधीक्षक उग्रसेन व अन्य कर्मचारी मौजूद रहे।