सीएम योगी का बड़ा ऐलान: कानपुर में बनेगा प्रदेश का पहला जीका डेडीकेटेड हॉस्पिटल

यूपी : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को केडीए सभागार में अधिकारियों के साथ जीका समीक्षा बैठक में बड़े निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश का पहला जीका डेडीकेटेड सेंटर कानपुर में बनेगा।

उनका कहना है कि अलग जीका डेडीकेटेड हॉस्पिटल बनाया जाए, जिससे कि रोगियों को ढंग से उपचार मिले। 

इसके साथ ही गर्भधारण आयु वर्ग की हर शादीशुदा महिला की स्क्रीनिंग कराने के लिए उन्होंने निर्देश दिए और कहा कि गर्भवती का हर महीने अल्ट्रासाउंड किया जाए।

इस मौके पर विधायकों ने मुख्यमंत्री से फॉगिंग न होने की शिकायत भी की।

बैठक में मुख्यमंत्री ने जीका की रोकथाम के लिए नगरीय और ग्रामीण क्षेत्रों को जोनों में बांटकर फॉगिंग करने और सर्वेलांस बढ़ाने के सीएमओ डॉ. नैपाल सिंह को निर्देश दिए और चकेरी क्षेत्र में विस्तृत सैंपलिंग के लिए कहा।

सोर्स रिडक्शन पर भी जोर दिया। इस मौके पर घाटमपुर विधायक उपेंद्र पासवान ने फॉगिंग न होने की शिकायत की और बिठूर विधायक अभिजीत सिंह सांगा ने कहा कि दीपावली पर ही फॉगिंग और सफाई कराई गई।

जीएसवीएम मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य डॉ. संजय काला ने बताया कि कॉलेज में जीका की जांच शुरू हो गई है।

सीएम ने उप प्राचार्य डॉ. रिचा गिरि से जीका और डेंगू में फर्क पूछा। उन्होंने कहा कि स्कूलों, कॉलेजों में एनजीओ के जरिये जीका से बचाव के लिए जागरुकता अभियान चलाया जाएं।

इस मौके पर डीएम विशाख जी. ने जीका की ताजा स्थिति के संबंध में मुख्यमंत्री को अवगत कराया।

इस मौके पर चिकित्सा शिक्षा मंत्री सुरेश खन्ना, स्वास्थ्य मंत्री जय प्रताप सिंह, महानिदेशक चिकित्सा स्वास्थ्य डॉ. वीबी सिंह, कार्डियोलॉजी निदेशक डॉ. प्रोफेसर विनय कृष्णा भी मौजूद रहे।