महाराष्ट्र में कोरोना ने लिया भयावह रूप,31 जुलाई तक इन शर्तों के साथ बढ़ा लॉकडाउन

महाराष्ट्र : महाराष्ट्र में कोरोनो वायरस की रफ़्तार बेहद तेज़ हो गयी है. संक्रमण का खतरा भयावह रुप ले चुका है. कोविड के बढ़ते मरीजों की संख्या को देखते हुए लॉकडाउन फिर बढ़ा दिया गया है।

राज्य में अब 31 जुलाई तक के लिए लॉकडाउन बढ़ाने का ऐलान किया गया है। इससे पहले 30 जून तक के लिए लॉकडाउन बढ़ाया गया था। बता दें कि देश में कोरोना के सबसे ज्यादा मामले महाराष्ट्र में ही हैं।

लॉकडाउन को बढ़ाने का आदेश राज्य के चीफ सेक्रटरी अजॉय मेहता की तरफ से जारी किया गया है। इस आदेश में कहा गया है कि राज्य में कोरोना वायरस के फैलने का खतरा बना हुआ है।

इसलिए वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए जरूरी उपाय के तहत ये कदम उठाया जा रहा है। महामारी ऐक्ट 1897 की धारा-2 और आपदा प्रबंधन कानून 2005 के तहत पूरे महाराष्ट्र में 31 जुलाई 2020 मध्यरात्रि तक के लिए लॉकडाउन को बढ़ाया जाता है। 

लॉकडाउन के दौरान अब तक जिस तरह जरूरी वस्तुओं की दुकानें खुलती रही हैं, उसी तरह उन्हें छूट जारी रहेगी। वहीं, ऑड-इवन डे में दूसरी दुकानों को खोला जा सकता है।

इसके साथ ही दफ्तरों में सीमित संख्या में कर्मचारियों की उपस्थिति होगी। मिशन बिगिन अगेन के तहत राज्य सरकार के सभी विभागों को पहले जारी की गई गाइडलाइंस का सख्ती से पालन करने के निर्देश दिए गए हैं। 

मुख्य सचिव की तरफ से जारी आदेश में कहा गया है कि स्थानीय परिस्थितियों के मुताबिक संबंधित जिला कलेक्टर, म्यूनिसिपल कॉर्पोरेशन के कमिश्नर जरूरी प्रतिबंध लागू कर सकते हैं।

इसके तहत वायरस के प्रसार को रोकने के लिए लोगों के आने-जाने और गैर जरूरी गतिविधियों पर प्रतिबंध लगाया जा सकता है। 

बता दें कि महाराष्ट्र में कुल कोरोना वायरस संक्रमितों की संख्या बढ़कर 1,64,626 हो गई। इसके अलावा राज्य में इस महामारी से जान गंवाने वालों का आंकड़ा बढ़कर 7,429 पहुंच गया।