डिस्पोजेबल मास्क धोएं नहीं, डस्टबिन में डालें

बाँदा : कोरोना संक्रमण के इस दौर में मास्क की अनिवार्यता काफी बढ़ गई है। घर से बाहर निकलने पर खासकर भीड़भाड़ वाले स्थानों पर मास्क लगाने से काफी हद तक संक्रमण को फैलने से रोका जा सकता है।

इसी को ध्यान में रखते हुए सरकार ने भी बाहर निकलने से पहले मास्क पहनना अनिवार्य कर दिया है। ऐसे में मास्क के सही उपयोग और उसके रख-रखाव की जानकारी होना भी ज़रूरी है, नहीं तो यह खुद संक्रमण फैलने का कारण बन सकता है।

जिला कार्यक्रम प्रबंधक (डीपीएम) कुशल यादव का कहना है – कोविड-19 वायरस एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति के संपर्क में आने से आसानी से फैलता है। मास्क पहनने से किसी संक्रमित व्यक्ति से हवा में मौजूद थूक की बूंदों के माध्यम से कोरोना वायरस के श्वसन तंत्र में प्रवेश करने की संभावना कम हो जाती है।

सही तरह से मास्क पहनकर वायरस के हमारे शरीर में जाने की सम्भावना को कम किया जा सकता है। लेकिन मास्क प्रभावी तभी होते हैं जब उन्हें इस्तेमाल करने के साथ-साथ बार-बार अल्कोहल वाले हैंड रब या साबुन तथा पानी से हाथों को धोया जाए। यदि आप मास्क पहनते हैं तो इसके सही इस्तेमाल और उचित ढंग से निस्तारण की जानकारी होना भी ज़रूरी है।

डीपीएम ने बताया कि आमतौर पर मास्क तीन तरह के होते हैं – सर्जिकल मास्क, एन-95 मास्क और घर का बना सूती कपड़े का फेस मास्क। कुछ लोगों में मास्क को लेकर कुछ भ्रांतियां भी हैं जैसे एन-95 मास्क से ही उनकी सुरक्षा होगी जबकि ऐसा नहीं है।

एन-95 मास्क केवल कोरोना संक्रमित मरीजों के लगातार संपर्क में रहने वाले लोगों जैसे चिकित्साकर्मियों के लिए पहनना अनिवार्य है। बाकी लोग डिस्पोजेबल या कपडे का ट्रिपल लेयर मास्क पहन सकते हैं।

डिस्पोजेबल मास्क को धोएं नहीं, उसे उपयोग के तुरंत बाद बंद डस्टबिन में डालें। घर पर बने सूती कपड़े के दोबारा इस्तेमाल होने वाले मास्क को धुलकर उपयोग कर सकते हैं।

पर ध्यान रहे कि परिवार के हर सदस्य के पास कम से कम 2 मास्क होने चाहिए ताकि एक मास्क को पहने और दूसरे मास्क को धोकर सुखा लें। एक दूसरे के मास्क को बिलकुल न पहनें। इससे संक्रमण हो सकता है।

मास्क पहनने में ध्यान रखने वाली बातें

मास्क को पहनने से पहले हाथों को अच्छे से धोएं। ध्यान रखें कि मास्क आपके मुंह, नाक और ठुड्डी को पूरी तरह ढक ले और कहीं बीच में खाली जगह न हो।

मास्क को उल्टा करके दुबारा उपयोग न करें। उसे दुबारा उपयोग से पहले अच्छी तरह धोकर सुखा लें। सार्वजनिक स्थानों पर हर समय दूसरे व्यक्ति से दो गज की दूरी बनाए रखें। घर आने पर अपने हाथों को अच्छी तरह से धोएं। अपने चेहरे को न छूएं।

मास्क हटाते समय इन बातों का रखें ध्यान

मास्क को इसकी डोरी पकड़कर निकालें। मास्क हटाने के बाद किसी भी सतह को न छुएं तथा उसे कहीं इधर उधर न रखें।

उसे साबुन के घोल में डाल दें। मास्क हटाने के तुरंत बाद हाथों को साबुन और पानी से कम से कम 40 सेकेण्ड तक अच्छी तरह से धोएं।

कपड़े के मास्क को एक बार इस्तेमाल करने के बाद कैसे धोएं तथा सैनिटाइज करें

मास्क को उपयोग करने के बाद साबुन और गर्म पानी में अच्छे से धोएं और इसे धूप में कम से कम 5 घंटे तक सुखा लें। यदि धूप नहीं है तो मास्क को कम से कम 10 मिनट तक पानी में उबालें।

धुले हुये मास्क को कैसे रखें

एक प्लाटिक के बैग को अच्छे से साबुन और पानी से धो लें तथा उसे दोनों तरफ़ से अच्छे से सुखा लें। इस साफ़ बैग में धुले मास्क को रखें और इसे अच्छी तरह से सील कर दें।