September 27, 2020

भुगतान से खिलखिलाये आशाओं के चेहरे

मुख्य बातें

  • आशाओं के भुगतान में जनपद को मिला प्रदेश में दूसरा स्थान
  • कोविड संक्रमण के दौरान ड्यूटी करने पर दिया गया अतिरिक्त भत्ता

ललितपुर : कोरोना संक्रमण को भारत में आये हुए 7 माह से ज्यादा गुज़र गये हैं| अब देश पूर्ण अनलॉक की तरफ बढ़ रहा है| इस दौरान आशाओं ने संक्रमण से निपटने के लिए मुख्य भूमिका निभाई है|

उन्होंने घर घर जा कर सर्दी खांसी के मरीजों का चिन्हीकरण किया है तथा अन्य सभी कामों में स्वास्थ्य विभाग का पूर्ण साथ दिया है|

संक्रमण से निपटने के लिए सरकार द्वारा आशाओं को एक हजार रुपया देने का भी प्रावधान किया गया है| डीसीपीएम गणेश ने बताया की इस संक्रमण के दौर में आशाओं ने खुद की परवाह किये बगैर निडर होकर अपने कर्तव्यों का पालन किया है| स्वास्थ्य विभाग की रीढ़ की हड्डी की तरह आशाएं दिन रात एक कर मेहनत करती है|

उन्होंने बताया कि जुलाई और अगस्त माह में आशाओं का भुगतान करने में ललितपुर जनपद ने प्रदेश में दूसरा स्थान प्राप्त किया है| उन्होंने बताया की जनपद में फ़िलहाल 917 आशाएं कार्य कर रही हैं|

बताया की इन रैंकिंग का निर्धारण एचएमआईएस पोर्टल के हिसाब से होता है| भुगतान हेतु आशाओं को अपने अपने बिल ब्लाक पर जमा करना होता है, उसके बाद बीसीपीएम द्वारा पेमेंट बनाया जाता है| उसके पश्चात् एमओआईसी इसे अप्रूव करता है| उसके पश्चात् ही बैंक द्वारा पेमेंट किया जाता है|