October 13, 2021

टोक्यो पैरालंपिक में सोना चांदी साथ-साथ,मनीष नरवाल ने जीता गोल्ड तो सिंहराज भी लाए सिल्वर

नई दिल्ली : शनिवार का दिन भारत के लिए टोक्यो पैरालंपिक गेम्स में शानदार साबित हो रहा है. भारतीय निशानेबाज मनीष नरवाल और सिंहराज ने टोक्यो पैरालंपिक में कमाल कर दिया।

मनीष ने शानदार प्रदर्शन करते हुए पुरुषों की 50 मीटर पिस्टल स्पर्धा एसएच-1 स्पर्धा में गोल्ड मेडल जीता। वहीं इसी स्पर्धा में सिंहराज अडाना ने बेहतरीन निशाना साधते हुए रजत पदक पर कब्जा किया।

मनीष ने फाइनल में 218.2 का स्कोर किया। जबकि सिंहराज ने 216.7 का स्कोर करते हुए सिल्वर मेडल हासिल किया।

जबकि, रूस ओलंपिक समित के सर्जेइ मालिशेव ने 196.8 अंकों के साथ कांस्य पदक जीतने में सफल रहे।

क्वालीफिकेशन में सिंहराज 536 अंकों के साथ चौथे स्थान पर थे। जबकि मनीष नरवाल 533 अंकों के साथ सातवें नंबर पर रहे।

हरियाणा के कथूरा गांव के रहने वाले मनीष नरवाल ने महज 19 साल की उम्र में इतिहास रच दिया है. मनीष नरवाल ने पहले दो शॉट में 17.8 ही स्कोर किया था. लेकिन इसके बाद नरवाल ने शानदार वापसी की.

पांच शॉट के बाद नरवाल टॉप थ्री में जगह बनाने में कामयाब रहे और पांच शॉट के बाद उनका स्कोर 45.4 था. 12 शॉट के बाद मनीष 104.3 के स्कोर के साथ पांचवें नंबर पर बने हुए थे.

मनीष ने टोक्यो पैरालंपिक में भारत की तीसरा स्वर्ण पदक जिताने में सफल रहे। इससे पहले अवनि लेखरा और सुमित अंतिल भारत के लिए गोल्ड मेडल जीत चुके हैं।

सिंहराज की बात की जाए तो उन्होंने टोक्यो पैरालंपिक में अपना दूसरा पदक जीता है। इसे पहले सिंहराज ने 10 मीटर एयर पिस्टल एसएच-1 स्पर्धा में कांस्य पदक जीता था।

इस मुकाबले में सिंघराज लगातार अच्छा प्रदर्शन कर रहे थे. 14वें शॉट के बाद सिंघराज नंबर चार पर बने हुए थे.

14वें शॉट के बाद फाइनल इवेंट में सिर्फ 6 खिलाड़ी बचे थे जिनमें भारत के दो खिलाड़ी सिंघराज और मनीष नरवाल शामिल थे.

बता दें कि भारत ने टोक्यो पैरालंपिक में अब तक 15 पदक जीते हैं जिनमें तीन स्वर्ण, सात रजत और और पांच कांस्य पदक शामिल हैं।

पैरालंपिक में यह भारत का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है। मौजूदा समय में पदक तालिका में भारत 34वें स्थान पर है।