February 28, 2021

शुभारंभ: प्रधानमंत्री के संबोधन के साथ हुई कोरोना टीकाकरण अभियान की शुरूआत

मुख्य बातें

  • जिले में डा. शिव कुमार मौर्या को लगा कोरोना का पहला टीका
  • प्रतिरक्षित लोगों को 15 फरवरी को दी जाएगी दूसरी डोज

बांदा : कोरोना टीकाकरण अभियान की शुरूआत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के साथ हुई। जिले में डा. शिव कुमार मौर्या को कोरोना का पहला टीका लगने के साथ ही शनिवार को कोविड-19 टीकाकरण अभियान की शुरुआत हो गई है।

प्रतिरक्षित लोगों को टीका की अगली डोज के लिए 15 फरवरी की तारीख दी गई है। इसके लिए उनके मोबाइल पर मैसेज भी आएगा।

जिलाधिकारी आनंद कुमार सिंह ने बताया कि कोरोना वायरस कि अब उल्टी गिनती शुरू हो चुकी है। विश्व में तबाही मचाने वाले कोविड-19 वायरस जैसी विकराल समस्या का अब समाधान निकल चुका है।

जिले के शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्र के कुल चार अस्पतालों में भी जिला प्रशासन, पुलिस प्रशासन एवं स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों की निगरानी में टीके को लांच किया गया। जिलाधिकारी ने बताया कि जिले में अब तक 312690 सैंपल जांच के लिए भेजे गए हैं।

3624 मरीज पॉजिटिव आए हैं। अब तक 3553 मरीज स्वस्थ हो चुके हैं। वर्तमान में 71 एक्टिव केस हैं तथा अब तक जनपद में कुल 43 लोगों की कोरोना संक्रमण से मृत्यु हुई है।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा.एनडी शर्मा ने बताया कि जनपद में कोरोना को मात देने के लिए वैक्सीन की 7960 डोज जिले को प्राप्त हो चुकी हैं। कहा कि भारत में विकसित कोरोना वैक्सीन पूरी तरह प्रभावी है।

उन्होंने बताया कि पहले डोज के बाद दूसरा डोज 28वें दिन लगेगा। टीका लगने के बाद आधे घंटे तक टीकाकरण केंद्र पर रुकना होगा। प्रतिरक्षित व्यक्ति को यदि बेचैनी या किसी भी तरह की समस्या होती है तो निकटतम स्वास्थ्य अधिकारियों, एएनएम और आशा को इसकी सूचना दें। इसके लिए एंबुलेंस सेवा 108 भी उपलब्ध है।

इस मौके पर नोडल अधिकारी डा.एमसी पाल, डब्ल्यूएचओ एसएमओ डा.मीनाक्षी, यूनिसेफ से हरेंद्र पंवार व फुजैल सिद्दीकी, सीएमएस डा.उदयभान सिंह, डा.एसएन सिंह, डा.रामकुमार वर्मा सहित स्वास्थ्य कर्मी उपस्थित रहे।

अनुपस्थित की बनेगी सूची

शनिवार को शुरू हुये कोविड-19 टीकाकरण अभियान के दिन कई ऐसे लोग भी रहे जिनका नाम कोविन पोर्टल पर पंजीकृत था लेकिन वह टीकाकरण के समय नहीं आए। अनुपस्थित लोगों की अब एक अलग सूची तैयार होगी। इन लोगों को टीकाकरण के लिए अलग से समय दिया जाएगा।

सत्यापन के लिए आवश्यक

कोरोना टीकाकरण के लिए जाते समय व्यक्ति को अपना एक पहचान पत्र लाना होगा। इसमें आधार कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, वोटर आइडी एवं पैन कार्ड, पासपोर्ट, जॉब कार्ड, पेंशन दस्तावेज, मनरेगा कार्ड, स्वास्थ्य बीमा स्मार्ट कार्ड, सांसदों, विधायकों, एमएलसी को जारी आधिकारिक प्रमाण पत्र, बैंक, पोस्ट ऑफिस की पासबुक, केंद्र, राज्य सरकार या पब्लिक लिमिटेड कंपनियों द्वारा जारी सेवा आईडी कार्ड आदि में कोई एक हो सकता है।