January 25, 2021

किसान आंदोलन: बैठक बेनतीजा सरकार ने कहा कि बेहतर होगा सुप्रीम कोर्ट करे फैसला

उत्तर प्रदेश : सरकार और किसान संगठन के बीच हुई आज की बैठक भी बेनतीजा रही. सरकार और किसान अपने-अपने रुख पर अड़े हुए हैं. आज की बैठक में सरकार ने स्पष्ट कर दिया है कि वह किसी भी स्थिति में कृषि कानूनों को वापस नहीं लेगी . वहीं किसान तीनों कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग पर अड़े हैं.

अब 15 जनवरी को होगी अगली बैठक

सरकार और किसान नेताओं के बीच 15 जनवरी को अगली बैठक होगी. जानकारी के मुताबिक, आज की बैठक में सरकार ने किसानों से कहा कि अब फैसला सुप्रीम कोर्ट करे तो बेहतर है. आपको बताते चलें कि सरकार और किसान संगठनों के बीच हुई कई दौर की वार्ताओं में अब तक कोई परिणाम नहीं निकला है ।

वही किसान संगठन भी झुकने के लिए तैयार नहीं है और वह अपने आंदोलन को और धार दे रहे हैं तथा आगामी 26 जनवरी को गणतंत्र परेड में भी ट्रैक्टर रैली करने की चेतावनी दे चुके हैं ।

आज की बैठक के बाद किसान नेता हनान मुला ने कहा कि हम कानून वापसी के अलावा कुछ और नहीं चाहते. हम कोर्ट नहीं जाएंगे. कानून वापस होने तक हमारी लड़ाई जारी रहेगी.

कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि हम लोकतांत्रिक देश के नागरिक हैं. हमारे लोकतंत्र में राज्य सभा और लोकसभा से कोई कानून पास होता तो उसका विश्लेषण करने का अधिकार सुप्रीम कोर्ट का है. हम चाहते हैं कि सुप्रीम कोर्ट इन तीनों कानूनों पर विचार करके फैसला करें ।

इसके साथ ही कृषि मंत्री ने कहा कि यदि किसान संगठन कृषि कानून वापस लेने के अलावा कोई और विकल्प चाहते हैं तो उस पर विचार किया जा सकता है ।

उन्होंने कहा कि 15 जनवरी को अगली बैठक आयोजित की जाएगी तथा गतिरोध को तोड़कर किसी न किसी नतीजे पर पहुंचने का पूरा प्रयास किया जाएगा ।