January 25, 2021

लखनऊ पुलिस की नाक के नीचे चल रही नकली खाद बनाने की फैक्ट्री, करोड़ों की नकली खाद बरामद

लखनऊ : राजधानी लखनऊ में पुलिस की नाक के नीचे चल रही नकली खाद की फैक्ट्री का भंडाफोड़ हो गया । जिला कृषि अधिकारी ने आइजी रेंज लक्ष्मी सिंह के सहयोग से नकली खाद बनाने की फैक्ट्री का भंडाफोड़ किया है। बालागंज में संचालित हो रही थी अवैध फैक्ट्री पर जिला कृषि अधिकारी ने एफआइआर दर्ज कराई है ।

पूछताछ के बाद अवैध फैक्ट्री के संचालन का राजफाश हुआ। छापेमारी में फैक्ट्री से सात हजार नकली डीएपी खाद एवं पोटाश की बोरियां बरामद की गई है। हैरत की बात यह है कि स्‍थानीय पुलिस को अवैध फैक्ट्री के बारे में भनक तक नहीं थी ।

ये है पूरा मामला

आइजी लक्ष्मी सिंह के मुताबिक, बालागंज में खाद की अवैध फैक्ट्री के संचालन की सूचना सर्विलांस टीम को हुई। इसके बाद शनिवार सुबह पुलिस टीम ने घेराबंदी कर मलिहाबाद चौराहे से पिकप डाले में लदी 40 बोरी नकली डीएपी खाद पकड़ ली।

आरोपित चालक गऊ घाट निवासी अमित कुमार की निशानदेही पर बालागंज में संचालित फैक्ट्री का भंडाफोड़ किया गया।

जानकारी के मुताबिक बालागंज के मारुती शोरूम के पास काफी समय से नकली खाद बनाने का अवैध कारोबार संचालित हो रहा था।

ब्रांडेड कम्पनी इफ्को के नकली बोरों में काफी मात्रा में नकली खाद भी बरामद हुई है। पुलिस फैक्ट्री के संचालक तक नहीं पहुंच सकी है।

लखनऊ ग्रामीण पुलिस की सक्रियता से हुआ बड़ा खुलासा

आपको बता दें कि गुरुवार की शाम मलिहाबाद के मुजासा के पास पिकअप गाड़ी को रोककर जब पुलिस ने जांच पड़ताल की तो उसमें संदिग्ध नकली खाद के 40 बोरे बरामद हुए ।

संदिग्ध नकली खाद के साथ पकड़े गए पिकअप गाड़ी के चालक अमित कुमार की निशानदेही पर पुलिस ने ठाकुरगंज के बाला गंज के पास बने एक गोदाम में छापा मारकर 7000 बोरी संदिग्ध नकली खाद बरामद कर ली ।

पुलिस द्वारा गोदाम पर की गई छापेमारी के दौरान वहां मौजूद लोग फरार होने में कामयाब हो गए । पुलिस ने गोदाम को सील कर दिया है हालांकि पुलिस ने यह नहीं बताया है कि चालक अमित कुमार को संदिग्ध नकली खाद किसने उपलब्ध कराई थी और वह इससे पहले इस तरह की संदिग्ध नकली खाद के कितने बोरे अपनी गाड़ी में लादकर कहां कहां पहुंचा चुका है ।

जिला कृषि अधिकारी ओपी मिश्रा की तहरीर पर मलिहाबाद कोतवाली में संदिग्ध नकली खाद बरामद होने के संबंध में मुकदमा दर्ज कराया गया है।

एसपी ग्रामीण हृदेश कुमार ने कहा कि मलिहाबाद पुलिस और सर्विलांस की टीम का यह कार्य सराहनीय है जिससे खुश होकर पुलिस की टीम को 10000 का इनाम दिया गया है ।