MP के राज्यपाल लालजी टंडन का निधन,यूपी में तीन दिन का राजकीय शोक घोषित

लखनऊ : मध्य प्रदेश के राज्यपाल लालजी टंडन का 85 साल की आयु में मंगलवार सुबह 5.30 बजे निधन हो गया। टंडन को 11 जून को सांस लेने में तकलीफ और बुखार के चलते लखनऊ के मेदांता अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

सोमवार शाम अस्पताल की तरफ से जारी मेडिकल बुलेटिन में उनकी हालत क्रिटिकल बताई गई थी। इसके बाद मेदांता अस्पताल के निदेशक डॉ. राकेश कपूर ने मंगलवार सुबह टंडन के निधन की जानकारी दी।

आज शाम 4.30 बजे लखनऊ में उनका अंतिम संस्कार किया जायेगा । प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी उनके निधन पर दुख जताया है। उत्तर प्रदेश सरकार ने 3 दिन के राजकीय शोक की घोषणा की है।

इसके बाद मुख्यमंत्री योगी ने ट्वीट कर दुख जताया। उन्होंने लिखा कि मध्यप्रदेश के राज्यपाल लालजी टंडन के निधन की खबर सुनकर शोक हुआ। 

उनके निधन से देश ने एक लोकप्रिय जननेता, योग्य प्रशासक और प्रखर समाज सेवी को खोया है। वे लखनऊ के प्राण थे। ईश्वर से दिवंगत आत्मा की शांति हेतु प्रार्थना करता हूं। मेरी संवेदनाएं शोक संतप्त परिजनों के साथ हैं।

बता दें कि उनका लीवर, फेफड़े और गुर्दे ठीक से काम नहीं कर रहे थे। लगातार उनकी डायलिसिस भी की जा रही था।

अस्पताल में भर्ती होने के कुछ दिनों बाद उनकी हालत ठीक हो गई थी, लेकिन इससे पहले कि वे पूरी तरह स्वस्थ होकर घर लौट पाते उनके स्वास्थ्य में फिर से गिरावट होने लगी। 

पिछले कई दिनों से टंडन वेंटिलेटर पर थे। इससे पहले तक उन्हें आईसीयू में रखा गया था। मेदांता में विशेषज्ञों की टीम उनकी पल-पल की निगरानी कर रही थी, इसके बावजूद टंडन को नहीं बचाया जा सका।