February 28, 2021

राष्ट्रीय बालिका दिवस पर केंद्रित रहा ‘आरोग्य स्वास्थ्य मेला’

मुख्य बातें

• सभी 52 पीएचसी पर लगा मेला

• 2899 लोगों को मिला स्वास्थ्य लाभ

वाराणसी : जनपद के समस्त 52 शहरी एवं ग्रामीण प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर रविवार को मुख्यमंत्री आरोग्य स्वास्थ्य मेले का आयोजन किया गया जिसमें विशेषज्ञ चिकित्सकों के द्वारा स्वास्थ्य परामर्श दिया गया, मुफ्त जांच हुई तथा निःशुल्क दवाएं भी वितरित की गईं ।

राष्ट्रीय बालिका दिवस के अवसर पर जनपद के सभी दो सामुदायिक एवं छः प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर जन जागरूकता रैली निकली गई एवं गोष्ठी का आयोजन भी किया गया ।

पीएचसी बड़ागांव पर आरोग्य मेले का उद्घाटन मुख्य चिकत्सा अधिकारी डॉ वी बी सिंह द्वारा किया गया । राष्ट्रीय बालिका दिवस के अवसर पर गोष्ठी का आयोजन किया गया एवं मुख्य चिकित्सा अधिकारी द्वारा हरी झंडी दिखाकर समाज में हो रहे बालिकाओं साथ के भेद भाव को रोकने व लोगों को जागरूक करने के लिए रैली निकाली गई।

इस अवसर पर उन्होने कहा कि आरोग्य मेले का लाभ जन-जन तक पहुंचे । मेले में गोल्डेन कार्ड बनवाने की सुविधा दी जा रही है जिसमें यह सुनिश्चित किया जाए कि शत-प्रतिशत पात्र लाभार्थियों का गोल्डेन कार्ड बन जाए।

मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना का लाभ सभी पात्र लाभार्थियों को दिलाना सुनिश्चित किया जाए। इसके साथ ही सीएचसी चोलापुर, पीएचसी हरहुआ, पीएचसी सेवापुरी एवं पीएचसी चिरईगांव में राष्ट्रीय बालिका दिवस के अवसर पर जन जागरूकता रैली निकाली गई ।

मेले में कुल 2899 लोगों की स्वास्थ्य जांच की गई, जिसमें 954 पुरुष, 1536 महिला और 409 बच्चे शामिल हैं | इस दौरान कोविड हेल्प डेस्क पर 1412 व्यक्तियों की स्क्रीनिंग की गईं, जिसमें 508 व्यक्तियों का एंटीजन किट से कोरोना टेस्ट किया गया, जिसमें सभी व्यक्ति निगेटिव पाये गए।

सभी स्वास्थ्य मेलों में आयुष्मान भारत योजना के स्टॉल लगा कर 518 लाभार्थियों के गोल्डेन कार्ड भी बनाए गए । इसके अलावा 179 मरीज श्वसन, 54 लिवर, 225 उदर, 171 मधुमेह, 475 त्वचा संबन्धित मरीज, 14 टीबी संभावित मरीज, 73 एनीमिक (खून की कमी), 155 हाईपेर्टेंशन, 5 कैंसर, 260 महिलाओं की प्रसव पूर्व जांच हुई एवं 1044 अन्य रोगों के मरीज देखे गए ।

इसके अलावा 7 मरीजों को जनरल सर्जरी, 21 मरीजों को आँख की सर्जरी, 9 मरीजों को ईएनटी सर्जरी, 9 मरीजों को ओब्स एवं गायनी सर्जरी एवं 8 मरीजों को अन्य सर्जरी के लिए चिन्हित किया गया ।

मेले में कुल 1 कुपोषित बच्चों को चिन्हित किया गया, वहीं 66 मरीजों को संदर्भित किया गया । मेले में 121 मेडिकल ऑफिसर एवं 864 पैरामेडिकल स्टाफ ने कार्य किया ।सभी 52 पीएचसी पर लगा मेला राष्ट्रीय बालिका दिवस पर केन्द्रित रहा ‘आरोग्य स्वास्थ्य मेला’