पवित्र धार्मिक स्थलों पर जाने वाली ट्रेनों में होगी सिर्फ शाकाहारी भोजन की व्यवस्था, जानें इसके बारे में

नई दिल्ली : पवित्र स्थानों पर जाने वाली ट्रेनों को लेकर भारतीय रेलवे ने बड़ा ऐलान किया है। दरअसल भारतीय रेलवे की कुछ ट्रेनों में अब सिर्फ शाकाहारी खाना परोसने की योजना है।

सात्विक काउंसिल ऑफ इंडिया ने शाकाहारियों की जरुरतों के अनुरूप सेवाएं शुरू करने और पवित्र स्थलों की यात्रा करने वाले शाकाहारी को बढ़ावा देने के लिए भारतीय रेलवे खानपान और पर्यटन निगम (IRCTC) के साथ करार किया है.

सात्विक काउंसिल ऑफ इंडिया के एक बयान के अनुसार, आईआरसीटीसी कुछ ट्रेनों को “सात्त्विक प्रमाणित” करवाकर शाकाहारी-अनुकूल यात्रा को बढ़ावा देगा, विशेष रूप से धार्मिक स्थलों को जोड़ने वाले मार्गों पर चलने वाली ट्रेनों को।

भारतीय रेलवे की खानपान और पर्यटन शाखा, आईआरसीटीसी से किसी ने भी इस पर टिप्पणी नहीं की है.

पवित्र स्थलों की यात्रा में शाकाहारी को प्राथमिकता 

सात्विक काउंसिल ऑफ इंडिया द्वारा जारी एक प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार, इसने शाकाहारियों की आवश्यकताओं के अनुरूप सेवाएं शुरू करने और पवित्र स्थलों की यात्रा करने वाले शाकाहारी को बढ़ावा देने के लिए भारतीय रेलवे खानपान और पर्यटन निगम (आईआरसीटीसी) के साथ करार किया है.

आईआरसीटीसी वंदे भारत एक्सप्रेस चलाता है जो दिल्ली से कटरा तक जाती है. इसे ‘सात्त्विक’ के रूप में प्रमाणित किया जाएगा.

सात्विक काउंसिल ऑफ इंडिया ने कहा कि वह सोमवार को आईआरसीटीसी के साथ ‘सात्विक’ प्रमाणन योजना शुरू करेगी.

यह आईआरसीटीसी के साथ संयुक्त रूप से शाकाहारी रसोई की एक पुस्तिका भी विकसित करेगी.

ये योजना 18 ट्रेनों में हो सकती है शुरू

सात्विक काउंसिल ऑफ इंडिया की ओर से जारी प्रेस रिलीज में कहा गया है कि कुछ ट्रेनों के लिए “प्रमाणीकरण” लेने का फैसला किया है जो वंदे भारत एक्सप्रेस जैसे तीर्थ स्थलों पर जाती हैं, जो वैष्णो देवी के अंतिम पड़ाव कटरा में जाती हैं.

मंदिर के लगभग 18 ट्रेनों में इस फॉर्मूले को दोहराने की संभावना है. बयान में कहा गया है, “आईआरसीटीसी बेस किचन, एग्जिक्यूटिव लाउंज, बजट होटल, फूड प्लाजा, ट्रैवल और टूर पैकेज, रेल नीर प्लांट्स को ‘शाकाहारी अनुकूल यात्रा’ सुनिश्चित करने के लिए ‘सात्त्विक’ प्रमाणित किया जाएगा.