अयोग्यता नोटिस के खिलाफ पायलट पहुचें कोर्ट,3 बजे शुरू होगी सुनवायी

नई दिल्ली : राजस्थान में कांग्रेस सरकार और कांग्रेस पार्टी आपस में ही लड़ रही है. यहाँ मचे सियासी तूफ़ान के बीच अब ये मुद्दा हाईकोर्ट तक पहुँच गया है.

राजस्थान के पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट ने राजस्थान हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया है। पायलट और समर्थक विधायकों ने स्पीकर की ओर से भेजे गए अयोग्यता नोटिस को राजस्थान हाईकोर्ट में चुनौती दी है.

जिसकी सुनवाई कोर्ट द्वारा 3 बजे शुरू होगी।  हरीश साल्वे और मुकुल रोहतगी उनका प्रतिनिधित्व करेंगे।

संभवतः पायलट इस याचिका के माध्यम से यह सिद्ध करवाना चाहते है कि गहलोत सरकार की तरफ से जारी किए गए, नोटिस की कोई कानूनी बुनियाद नहीं है।

सचिन का मानना है कि जब कोई विधानसभा सत्र नहीं चल रहा है तो विधानसभा अध्यक्ष अयोग्यता नोटिस कैसे भेज सकता है।

जबकि विधायकों ने न तो पार्टी छोड़ी है और न ही किसी अन्य पार्टी में शामिल हुए हैं?  बता दें कि सचिन पायलट सहित 19 विधायकों को राजस्थान विधानसभा स्पीकर की ओर से बुधवार को नोटिस भेजा गया था। स्पीकर ने इन विधायकों को नोटिस भेजकर 17 जुलाई तक जवाब मांगा है। 

इससे पहले अशोक गहलोत और सचिन पायलट के बीच जारी मतभेद को कम करने के लिए प्रियंका गांधी वाड्रा सक्रिय हो गई थीं।

प्रियंका गांधी ने केसी वेणुगोपाल, अहमद पटेल से सचिन पायलट से बात करने को कहा है और पार्टी में वापस आने को कहा था। दूसरी ओर अशोक गहलोत अब भी सख्त रवैय्या अपनाए हुए हैं।