March 24, 2020

खाने-पीने और सुरक्षा संबंधी गंभीर संकट के साथ अपनी ड्यूटी कर रही पुलिस

लखनऊ : कोरोना वायरस देश और दुनिया के सामने एक गंभीर चुनौती बनकर आया है । लगातार बढ़ते संक्रमण और मौत के आंकड़ों के सामने आने के बाद सभी देशों को लॉकडाउन का सामना करना पड़ रहा है ।

इसके साथ ही कई जगहों पर कर्फ्यू भी लगाया जा चुका है । इन सबके बीच जनता को नियमों का पालन करवाना भी एक गंभीर चुनौती बनकर सामने आ रहा है.

कई जगहों पर लोग लॉकडाउन को गंभीरता से नहीं ले रहे हैं । ऐसे में लोगों को समझाना पुलिस के लिए एक बड़ी चुनौती साबित हो रही है ।

चेकिंग पॉइंट पर ड्यूटी कर रहे सिपाही बताते हैं कि लोगों में अभी भी जागरूकता की भारी कमी है ‌। लोग किसी ना किसी तरह से बहाना बनाकर सड़कों पर घूम रहे हैं । ऐसे में लोगों को समझा-बुझाकर उन्हें वापस भेजना बहुत मुश्किल काम है ।

लेकिन इस बड़े संकट के बीच पुलिस भी कई गंभीर संकटों का सामना कर रही है । कई पुलिस अधिकारियों ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि पुलिस के पास अभी भी पर्याप्त मात्रा में मास्क और सेनेटाइजर उपलब्ध नहीं हैं । लेकिन यह समय अभूतपूर्व है हम अपने कर्त्तव्यों से पीछे नहीं हट सकते हैं ।

सोमवार को पुलिस के जवान शहर तथा ग्रामीण क्षेत्रों में विभिन्न स्थानों पर तैनात रहकर लोगों की चेकिंग करते रहे । इसके साथ ही पुलिस के आला अधिकारी भी लगातार गश्त करते रहे ।

इन सब के बीच खाने-पीने की दुकानों की बंदी की वजह से पुलिस को खाने पीने के सामान के लिए गंभीर संकट का सामना करना पड़ रहा है । हालात यह है कि पुलिस कई बार खाने और चाय के अभाव में ही अपनी ड्यूटी निभा रही है ।

ज्वाइंट कमिश्नर से इस बारे में बात करने पर उन्होंने बताया कि “सरकार से लगातार बातचीत जारी है और जल्द ही सुरक्षा संबंधी सारे उपकरण पुलिस कर्मियों को उपलब्ध कराये जायेंगे । तथा सभी पुलिसकर्मी पेयजल अपने साथ रखें नगर निगम के टैंकर जगह जगह पर खड़े करा दिए गए हैं।

साथ ही पुलिसकर्मियों से यह भी कह दिया गया है कि बंदी के दौरान वह अपना खाना अपने साथ लेकर चले” ।

लेकिन मौजूदा हालात में पुलिस बेहद ही नाजुक हालात में अपने कर्तव्य को पूरा कर रही है ‌। एक तरफ उन्हें अपने और अपने परिवार के जीवन पर आए संकट की चिंता है, दूसरी तरफ नागरिकों के लिए अपना कर्तव्य जिसे वह हर तरह के संकट का सामना करने के बाद पूरा कर रहें हैं ।

एक आईपीएस अधिकारी बताते हैं कि यह समय सुविधाओं के अभाव की बात करने का नहीं है । पुलिस के कंधों पर इस महामारी को टालने की बहुत बड़ी जिम्मेदारी है । हमें इस समय पूरे संयम और सतर्कता के साथ काम करने की आवश्यकता है ।