घर में नजरबंद किए गए प्रधानमंत्री, सूडान में तख्तापलट की बड़ी आशंका, इंटरनेट बंद

एजेंसी : सुडान से बड़ी खबर सामने आई है। यहां के सूचना मंत्रालय के अनुसार देश के अंतरिम प्रधानमंत्री अब्दुल्ला हमदोक नजरबंद कर दिए गए हैं और उन्हें सैन्य तख्तापलट के समर्थन में संदेश जारी करने के लिए मजबूर किया जा रहा है.

बता दें कि पूर्व निरंकुश शासक उमर अल-बशीर को सत्ता से हटाए जाने के बाद, दो साल से अधिक समय से जारी लोकतंत्रिक सरकार बनाने के प्रयासों के बीच यह खबर सामने आई है.

अमेरिका ने इससे पहले हालिया घटनाक्रम पर चिंता जाहिर की थी. सोमवार को तड़के हॉर्न ऑफ अफ्रीका में अमेरिका के विशेष दूत जेफरी फेल्टमैन ने कहा कि सैन्य कब्जे की खबरों से अमेरिका ‘‘बेहद चिंतित’’ है. ‘हॉर्न ऑफ अफ्रीका’ में जिबूती, इरिट्रिया, इथियोपिया और सोमालिया शामिल हैं.

वहीं, सूडान के अधिकारियों ने कहा है कि सैन्य बलों ने सोमवार को कम से कम पांच वरिष्ठ सरकारी अधिकारियों को हिरासत में ले लिया, जबकि सूडानीज प्रोफेशनल्स एसोसिएशन पार्टी ने जनता से संभावित तख्तापलट के विरोध में सड़क पर उतरने का आह्वान किया है.

सूडान में लोकतंत्र समर्थक मुख्य दल सूडानीज प्रोफेशनल्स एसोसिएशन ने कहा है कि देश में इंटरनेट और फोन के सिग्नल काम नहीं कर रहे हैं. यहां इंटरनेट सेवा बाधित है।

नाम नहीं बताने की शर्त पर दो अधिकारियों ने यह जानकारी दी. यह गिरफ्तारी ऐसे वक्त हुई है जब दो सप्ताह पहले ही सूडान के आम नागरिकों और सैन्य नेताओं के बीच तनाव बढ़ गया था.

पिछले माह सितंबर में हुई थी तख्तापलट की नाकाम कोशिश

सितंबर में तख्तापलट की नाकाम कोशिश हुई और अत्यंत रूढ़िवादी इस्लाम समर्थकों को इससे बल मिला जो निरंकुश पूर्व शासक उमर अल-बशीर को व्यापक विरोध प्रदर्शनों के बाद सत्ता से हटाने वालों के खिलाफ सैन्य सरकार चाहते हैं.

हाल के दिनों में दोनों खेमे सड़कों पर खूब विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं. सूडान की राजधानी खार्तूम में पूर्ण नागरिक सरकार की मांग को लेकर हाल ही में हजारों लोग एक-साथ सड़कों पर उतरे थे.