October 13, 2021

RBI का बड़ा कदम: बिना इंटरनेट देश में कहीं भी कर सकेंगे पैसों का ट्रांजैक्शन, जाने पूरा प्लान

नई दिल्ली : (RBI) रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने अपने ग्राहकों के लिए खास सर्विस का ऐलान किया है, जिसके माध्यम से अब बिना इंटरनेट के भी पैसों का लेनदेन किया जा सकता है।.

शुक्रवार को गवर्नर शक्तिकांत दास ने एमपीसी की बैठक में लिए गए फैसलों का ऐलान करते समय इस सर्विस के बारे में जानकारी दी है.

उन्होंने कहा कि रिजर्व बैंक ने देशभर में ऑफलाइन मोड के जरिए पेमेंट करने का फ्रेमवर्क पेश किया है.

पूरे देश में पेमेंट व्यवस्था का होगा आरंभ

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने आज के ऐलान में बताया कि ऑफलाइन पेमेंट की व्यवस्था को पूरे देशभर में लागू कर दिया जाएगा.

सरकार के इस कदम से उन लोगों को खास फायदा होगा जिनके पास इंटरनेट की सुविधा नहीं है.

इसके अलावा आज भी कई एरिया ऐसे हैं, जहां पर इंटरनेट की सुविधा ग्राहकों तक नहीं पहुंची है तो वे इस ऑफलाइन ट्रांजेक्शन के जरिए पेमेंट कर सकेंगे.

इस सुविधा का 6 अगस्त 2020 को किया गया था ऐलान

बता दें रिजर्व बैंक ने 6 अगस्त 2020 को इस सुविधा का ऐलान किया था. इसकी टेस्टिंग चल रही थी. इसके अलावा पायलट टेस्ट के जरिए इसमें डिजिटल पेमेंट्स किया जा सकेगा.

आपको बता दें सितंबर 2020 से जून 2021 तक तीन पायलट को सफलतापूर्वक चलाया गया है, जिसके बाद सरकार ने जल्द ही इस सुविधा को देशभर में लॉन्च करने का ऐलान किया है.

इस्तेमाल होगी ऑफलाइन पेमेंट मैकेनिज्म 

पायलट प्रोजेक्ट के तहत इसमें पेमेंट ट्रांजेक्शन की सीमा 200 रुपये से ज्यादा थी. इसके अलावा ऑफलाइन ट्रांजेक्शन के लिए कुल सीमा 2000 रुपये फिक्स की गई थी.

बता दें ग्राहक जल्द ही ऑफलाइन पेमेंट मैकेनिज्म की मदद से आने वाले दिनों में पेमेंट कर सकेंगे.

बढ़ाई गई IMPS की लिमिट

इसके अलावा रिजर्व बैंक ने आज IMPS ट्रांजेक्शन की लिमिट को भी बढ़ा दिया है. आरबीआई ने IMPS सर्विस के जरिए 5 लाख रुपये तक का ट्रांजेक्शन करने की सुविधा दी है.

इसके अलावा आप 24 घंटे में किसी भी समय पैसे भेज सकते हैं. यानी टाइम की कोई पाबंदी नहीं है. पहले ये लिमिट 2 लाख रुपये थी, जिसको आरबीआई ने आज बढ़ाकर 5 लाख कर दिया है.