December 4, 2020

किसान बिल पर बवाल जारी,भगत सिंह के गांव में धरने पर बैठे अमरिंदर सिंह

चंडीगढ़ : कृषि बिल लोकसभा और राज्यसभा से पारित हो चुके हैं लेक़िन इनपर देशभर में विरोध प्रदर्शन जारी है. राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने रविवार को संसद से पास कराए गए तीन कृषि विधेयकों पर साइन कर दिए हैं, जिसके बाद ये अब कानून बन चुके हैं.

इसी को लेकर दिल्ली, पंजाब और हरियाणा के किसान सड़कों पर उतर आए हैं. जिसके चलते पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह शहीद भगत सिंह नगर के खटकर कलां गांव में कृषि कानून के खिलाफ धरना-प्रदर्शन कर रहे हैं.

अमरिंदर सिंह ने कृषि विधेयकों को राष्ट्रपति की मंजूरी को ‘दुर्भाग्यपूर्ण और निराशाजनक’ बताया है. उन्होंने कहा, ‘कांग्रेस और अन्य विपक्षी दलों को संसद में अपनी चिंताएं जाहिर करने का अवसर नहीं दिया गया.

राष्ट्रपति की मंजूरी उन किसानों के लिए झटका है जो केंद्र के इन कानूनों के खिलाफ सड़कों पर प्रदर्शन कर रहे हैं. इन खतरनाक कानूनों को मौजूदा स्वरूप में लागू करने से पंजाब का कृषि क्षेत्र बर्बाद हो जाएगा.’

राजधानी में इंडिया गेट के पास पंजाब के युवा कांग्रेसियों ने ट्रैक्टर में लगाई आग

वहीँ, आज सुबह पंजाब में युवा कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने राजधानी में इंडिया गेट के पास एक ट्रैक्टर को आग के हवाले कर अपना विरोध जताया.

क्रांतिकारी भगत सिंह की जयंती पर सुबह लगभग 7.15 बजे विवादास्पद कृषि कानूनों का विरोध करने के लिए पंजाब युवा कांग्रेस के लगभग 10-15 कार्यकर्ता एक ट्रक से राष्ट्रीय राजधानी पहुंचे. कार्यकर्ताओं ने ट्रक से एक ट्रैक्टर को उतारा और उसमें आग लगा दी.

विरोध प्रदर्शन करने और ट्रैक्टर जलाने के सिलसिले में पंजाब के रहने वाले पांच लोगों को हिरासत में ले लिया है. दिल्ली पुलिस सीसीटीवी फुटेज को खंगाल कर इसमें शामिल लोगों की पहचान कर रही है.