April 17, 2021

सैमसंग लॉन्च करेगा इंसान की आंख से भी बेहतर कैमरा सेंसर

नई दिल्ली: सैमसंग ने पिछले साल स्मार्टफोन कैमरों के लिए 64MP इमेज सेंसर मॉड्यूल की घोषणा की थी और फिर सैमसंग गैलेक्सी S20 अल्ट्रा में 108MP कैमरा सेंसर दिया था.

वहीं अब कंपनी अपने कैमरा सैंसर को और भी आगे ले जाना चाहती है.

योंगिन पार्क, ईवीपी, सेंसर बिजनेस टीम के प्रमुख ने एक आर्टिकल में कहा कि इंसान की आंखों का रिजॉल्युशन लगभग 500 एमपी का होता है और तुलना में अधिकांश आधुनिक डीएसएलआर कैमरे और स्मार्टफोन कैमरे 40 एमपी और 12 एमपी सेंसर प्रदान करते हैं.

इस प्रकार कैमरा इंडस्ट्री को इंसान की आंखों से मेल खाने के लिए एक लंबा रास्ता तय करने की जरूरत है. हालांकि, पार्क ने उल्लेख किया है कि सैमसंग उन कैमरा सेंसर को विकसित करने की योजना बना रहा है जिनका रिजॉल्युशन 600MP से ज्यदा है.

कंपनी जिस 600MP कैमरा सेंसर पर काम कर रही है, वह स्मार्टफोन पर इस्तेमाल नहीं किया जा सकता है, लेकिन स्मार्ट कारों आदि जैसे डिवाइस में इसका इस्तेमाल किया जा सकता है.

खबरें ये भी हैं कि सैमसंग स्मार्टफोन के लिए 150MP का नैनोसेल कैमरा सेंसर लॉन्च करने की प्लानिंग कर रहा है.

पार्क ने अपने आर्टिकल में लिखा है कि आज उपलब्ध अधिकांश कैमरे “केवल उन इमेज को ले सकते हैं जो इंसान की आंख को दिखाई देती हैं (450nm और 750nm के बीच वेवलेंग्थ) और सेंसर जो उस सीमा के बाहर लाइट की वेव लेंग्थ का पता लगा सकते हैं.”

पार्क ने कहा, “इमेज सेंसर जो पराबैंगनी प्रकाश और इंफ्रारेड वेव्स को महसूस कर सकते हैं, कृषि और चिकित्सा क्षेत्रों सहित कई क्षेत्रों को लाभ पहुंचाने के लिए उपयोग किया जा सकता है.”

पराबैंगनी किरणों के साथ इमेज सेंसर का उपयोग स्किन कैंसर के इलाज के लिए किया जा सकता है और इंफ्रारेड कैमरा सेंसर इंडस्ट्री उपयोग के मामलों में क्वालिटी कंट्रोल करने में मदद कर सकते हैं.

पार्क ने कहा कि सैमसंग के सिस्टम एलएसआई बिजनेस जो इमेज सेंसर विकसित करता है, वह भी गंध और स्वाद का पता लगाने वाले सेंसर बनाने की भी तलाश कर रहा है.