October 13, 2021

टोक्यो ओलंपिक: भारत की बेटियों ने रचा इतिहास, तीन मैच हारने के बाद पहली बार पहुंची सेमीफाइनल में

नई दिल्ली : भारतीय हॉकी को एक के बाद एक  जीत हासिल हो रही हैं। रविवार को पुरुष टीम ने तोक्यो ओलिंपिक के सेमीफाइनल में 49 साल बाद जगह बनाई और सोमवार को महिलाओं ने भी इतिहास रच दिया।

क्वार्टर फाइनल में टीम इंडिया ने ऑस्ट्रेलिया को 1-0 से मात दी। भारत की तरफ से एक मात्र गोल गुरजीत कौर ने खेल के 22वें मिनट में किया। इस जीत के साथ भारतीय महिला हॉकी सेमीफाइनल में पहंच गई।

टीम इंडिया के लिए यह जीत बेहद खास है। क्योंकि भारतीय महिला हॉकी की टीम की शुरुआत टोक्यो ओलंपिक में ठीक नहीं हुई और उसे तीन मुकाबलों में हार का सामना करना पड़ा।

ओलंपिक इतिहास में यह पहली बार हुआ है जब भारत की महिला हॉकी टीम सेमीफाइनल में पहुंची। अब सेमीफाइनल में भारत का मुकाबला अर्जेंटीना होगा।

जानें टीम इंडिया के सेमीफाइनल तक पहुंचने का सफर

भारतीय महिला हॉकी टीम ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ खेले गए मैच 4-3 से जीत दर्ज की। उसके बाद आयरलैंड को 2-0 से हराने के बाद क्वार्टर फाइनल तक का सफर तय किया।

सेमीफाइनल में जाने के लिए क्वार्टर फाइनल में टीम इंडिया की भिड़ंत ऑस्ट्रेलिया से हुई। इस मुकाबले में भारत की महिला हॉकी टीम ने कंगारू टीम को 1-0 से पछाड़कर सेमीफाइनल में जगह पक्की कर ली।

पहले तीन मुकाबले हारने के बाद दर्ज की जीत

भारतीय महिला हॉकी टीम की टोक्यो ओलंपिक में शुरुआत काफी निराशाजनक रही। भारत की महिला हॉकी टीम का पहला मुकाबला नीदरलैंड्स से था।

इस मैच में नीदरलैंड्स ने भारत पर एकतरफा जीत दर्ज करते हुए 5-1 से शिकस्त दी। इसके बाद महिला टीम का दूसरा मुकाबला जर्मनी से हुआ।

जर्मनी ने भारत की महिला हॉकी टीम को 2-0 से पीटा। जबकि ब्रिटेन ने भारत को 4-1 से करारी शिकस्त दी।

लगातार तीन हार के बाद भारतीय महिला टीम सेमीफाइनल में पहुंचेगी इसकी उम्मीद शायद किसी ने की होगी।

टीम इंडिया ने हिम्मत नहीं और अगले तीनों मुकाबलों में जबरदस्त वापसी करते हुए जीत दर्ज की। इस दौरान टीम इंडिया ने दक्षिण अफ्रीका को 4-3, आयरलैंड को 2-0 और ऑस्ट्रेलिया को 1-0 से हराकर सेमीफाइनल में पहुंची।

4 अगस्त को अर्जेंटीना से होगा मुकाबला

भारतीय महिला टीम का सेमीफाइनल में अर्जोंटीना से मुकाबला होगा। दोनों टीमों के बीच यह सेमीफाइनल मैच 4 अगस्त को खेला जाएगा। अर्जेंटीना की टीम ने जर्मनी को क्वार्टर फाइनल में 3-0 से हराया था।