ट्विटर CEO का बड़ा बयान,कहा कर्मचारी हमेशा कर सकते हैं ‘Work from Home’

नई दिल्ली : कोरोनाकाल में लॉक डाउन के चलते कई देशों में कुछ कंपनियां अपने कर्माचारियों को वर्क फ्रॉम होम करने के लिए कह रही हैं. लेक़िन अब ट्विटर के कर्मचारी कोविड 19 के खत्म होने के बाद भी घर से काम कर सकेंगे.

बता दें कि कोविड -19 का अभी तक कोई इलाज सामने नहीं आया है. इससे बचने का एकमात्र उपाय सोशल डिस्टेंसिंग ही है.

इससे सबक लेते हुए ट्विटर के सीईओ जैक डोर्सी ने अपने स्टाफ को हमेशा के लिए घर से काम करने का विकल्प दिया है.

डोर्सी ने मंगलवार को अपने सभी कर्मचारियों को एक ई-मेल के जरिए अपने स्टाफ को अनिश्चित समय के लिए घर से काम करने का विकल्प दिया है.

ट्विटर ने यह कदम फेसबुक, अल्फाबेट(गूगल) और अन्य बड़ी मल्टीनेशनल कंपनियों के बाद उठाया है. इन कंपनियों ने अपने सभी कर्मचारियों को इस साल के अंत तक घर से ही काम करने के लिए कहा है.

हालांकि ये विकल्प ऑफिस के सफाईकर्मियों और रखरखाव करने वाले के लिए लागू नहीं होगा, लेकिन जो लोग ऑनलाइन या कंप्यूटर पर काम करते हैं उनके लिए लागू होगा.

ट्विटर के प्रवक्ता ने मीडिया से कहा, ‘हम विचारशील रहे हैं. हम उन कंपनियों में से हैं जिन्होंने सबसे पहले वर्क फ्रॉम होम का मॉडल शुरू किया था.’

डोर्सी ने कहा कि ट्विटर के ऑफिस सितंबर से पहले खुलने की कोई संभावना नहीं है. ट्विटर अपने पहले 5,000 कर्मचारियों के लिए घर से काम करना अनिवार्य करने वाली पहली टेक कंपनियों में से एक थी।

आपको बता दें कि गूगल एवं फेसबुक ने इस साल के अंत तक पहले ही अपने कर्मचारियों को घर से काम करने की अनुमति दे दी है.

फेसबुक अपने ऑफिस को 6 जुलाई से खोलेगा. गूगल के कर्माचारी जुलाई की शुरुआत से ऑफिस जा सकते हैं, लेकिन अधिकांश लोग घर से ही काम करेंगे.