April 23, 2021

निर्वाचन आयोग ने मतदाता सूची को सही करने का कार्य शुरू किया।

गोंडा- जिलाधिकारी ने मतदाता सूची को त्रुटिरहित बनाने के लिए विभागों से मांगा मृतकों का डाटा।

30 सितम्बर तक बीएलओ घर-घर जाकर करेगें मतदाताओं का सत्यापन

भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार 01 सितम्बर से 30 सितम्बर तक चलने वाले मतदाता सत्यापन कार्य में पारदर्शिता लाने व मतदाता सूूची त्रुटि रहित करने का काम शुरू कर दिया है।

निर्वाचन आयोग ने सभी विभागों से मृतकों का डाटा मांगा गया है। डाटा के मिलान के बाद अंतिम सूची तैयार की जाएगी।

जिला निर्वाचन अधिकारी डा0 नितिन बंसल ने कलेक्ट्रेट सभागार में बैठक कर विभागीय अधिकारियों को सख्त निर्देश दिए कि वे तीन दिन के अन्दर 01 जनवरी 2019 से या उसकेे बाद हुये मृतकों की सूची जिला निर्वाचन कार्यालय में उपलब्ध करा दें।

गौरतलब है कि निर्वाचन आयोग के निर्देश पर 01 सितम्बर से बूथ लेबिल अधिकारियों द्वारा घर-घर जाकर मतदाताओं के सत्यापन का कार्य किया जा रहा है।

मतदाता सूची पूरी तरह त्रुटि रहित हो इसके लिए, जिलाधिकारी ने निर्वाचक नामावली में विद्यमान मृत मतदाताओं के नामों को डिलीट कराने के लिए जन्म मृत्यु रजिस्टर में मृत्यु रजिस्टर में पंजीकृत मृतकों के नामों की सूची मांगी गई है।

मुख्य चिकित्साधिकारी से मृत व्यक्तियों के नामों की सूची ली जाएगी और उसका मिलान किया जाएगा। इसके साथ साथ ही ग्राम पंचायत और स्थनीय निकायों के जन्म एवं मृत्यु रजिस्टर में पंजीकृत मृतकों की सूची का भी मिलान होगा।

इसके अतिरिक्त क्षेत्रीय लेखपाल के पास उपलब्ध वरासत प.क.11 की सूची से मृतकों की सूची‌।

जिला समाज कल्याण अधिकारी, जिला प्रोबेशन अधिकारी, जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी तथा जिला पिछड़ावर्ग और जिला दिव्यांगजन सशक्तीकरण अधिकारी के कार्यालयों में उपलब्ध मृत पेंशन धारकों की सूची।

कोषागार कार्यालयों में उपलब्ध मृत पेंशनरों की सूची प्राप्त करके बूथ लेबिल अधिकारियों के माध्यम ये घर-घर सत्यापन कराकर नामावली में विद्यमान मृत मतदातााओं के नामों को नियमविहित प्रक्रिया के अनुसार हटाया जायेगा।

जिला निर्वाचन अधिकारी ने सभी सम्बन्धित विभागीय अधिकारियों को सख्त निर्देश दिए हैं कि वे तीन दिन के अन्दर मृतकों की सूची जिला निर्वाचन कार्यालय में उपलब्ध करा दें जिससे भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार बीएलओ के माध्यम से त्रुटि रहित मतदाता सूची तैयार की जा सके।

जिलाधिकारी ने कहा कि बूथ लेबिल अधिकारियों द्वारा सर्वेक्षण के दौरान अर्हता तिथि 01-01-2020 के आधार पर 18 वर्ष की आयु पूर्ण करने वाले पात्र नागरिकों का नाम निर्वाचक नामावली में सम्मिलित किए जाने हेतु सम्बन्धित मतदाता से फार्म-6 भरवाया जा रहा है। सत्यापन के समय आयोग के निर्देशानुसार विलोपन सम्बन्धी कार्यवाही प्रक्रियानुसार की जाएगी। इसी प्रकार निर्वाचक नामावली में परिलक्षित विभिन्न प्रकार की त्रुटियों के संशोधन हेतु मतदाताओं से फार्म-8 भवरवाया जाएगा।

जिला निर्वाचन अधिकारी ने अपील की है कि ऐसे लोग जिनकी आयु 01 जनवरी 2020 को 18 वर्ष या उससे अधिक हो गई है और वे अभी मतदाता नहीं बने हैं, के नाम विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र की निर्वाचक नामावली में शामिल किए जाने हेतु फार्म-6,

अपमार्जन किए जाने हेतु फार्म-7, मतदाता सूची में दर्ज अशुद्ध प्रविष्टियों को शुद्ध करने हेतु फार्म-8 तथा एक ही विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र में एक स्थान से दूसरे स्थान पर नाम स्थानान्तरण हेतु फार्म-8क, बूथ लेबिल अधिकारियोंध् पदाभिहित अधिकारियों के पास अपने फार्म जमा कर सकते हैं।

सभी फार्म बूथ लेबिल अधिकारी, तहसील तथा जिला निर्वाचन कार्यालय से निःशुल्क प्राप्त किए जा सकते हैं। इसके अतिरिक्त उन्होने राजनैतिक दलों के पदाधिकारियों से अपील की है कि वह अपना पूर्ण सहयोग प्रदान करें जिससे कोई भी व्यक्ति मतदाता बनने से वंचित न रह जाय।

रिपोर्ट:-लक्ष्मण कुमार गुप्ता