क्या है पड़त सरकार और मौजा बेचिराग:देखें UPRO अध्यक्ष निखिल शुक्ल का एक्सक्लूसिव इंटरव्यू

क्या आप पड़त सरकार और मौजा बेचिराग जैसे रहस्यमयी शब्दों को जानते हैं?

आपको अंदाजा लगाने में आसानी हो इसलिए इतना समझ लीजिए कि इन शब्दों का प्रयोग राजस्व विभाग करता है । राजस्व विभाग का पूरा नाम राजस्व राहत आपदा विभाग है और यह विभिन्न तरह के रहस्यमयी काम करता है ।

लखनऊ : जब इस समय पूरा देश आपदा का सामना कर रहा है ऐसे में राजस्व एवं राहत आपदा विभाग का काम महत्वपूर्ण हो जाता है । लेकिन यह वह विभाग है जो पर्दे के पीछे रहकर काम कर रहा है ।

या यूं कहा जाए कि बिना इस विभाग की मंजूरी के कोई भी विभाग राहत संबंधी कार्य नहीं कर सकता है । हम सबके बीच काम कर रहे कोरोना योद्धाओं को काम करने की शक्ति इसी विभाग के गुमनाम योद्धा देते हैं ।

समझते हैं पड़त सरकार , मौजा बेचिराग को भी लेकिन पहले समझते हैं डिजास्टर मैनेजमेंट को ।

डिजास्टर मैनेजमेंट आसान शब्दों में कहें तो किसी भयानक आपदा से निपटने का एक व्यवस्थित तरीका । भारत में किसी डिजास्टर के बाद उससे निपटने में सबसे अहम भूमिका इसी विभाग की होती है ।

स्थितियों का आकलन कर प्रभावितों की सूची बनाकर उन तक राहत पहुंचाना बेघरों के रहने की व्यवस्था करना । राहत सामग्री का ब्यौरा रखना इस तरह के बहुत सारे काम इस कोरोना महामारी में इस विभाग के द्वारा किए जा रहे हैं । इनके काम करने की शब्दावली के साथ साथ इनके कामों से भी हम सब कम ही परिचित हैं ।

राजस्व विभाग में एक अहम पद होता है जिसका नाम है तहसीलदार । तहसीलदारों का एक बड़ा संगठन है जिसका नाम है उत्तर प्रदेश राजस्व प्रशासनिक अधिकारी संघ । और इस समय उसके अध्यक्ष हैं निखिल शुक्ला जी।

विभाग की रहस्यमयी शब्दावली और विभिन्न कामों को बताने के लिए आज हमारे बीच बात करने के लिए मौजूद हैं लखनऊ जिले की मलिहाबाद तहसील के तहसीलदार और संगठन के अध्यक्ष निखिल शुक्ला जी ।

यदि आपके पास राजस्व विभाग का कोई रहस्यमयी शब्द है तो आप उसे कमेंट बॉक्स में बताइए तहसीलदार साहब उसे आसान भाषा में आप को समझायेंगे ।

देखें वीडियो