April 17, 2021

आपका निजी डेटा चुराकर कीमत वसूलने की तैयारी में वाट्सएप

लखनऊ : इंस्टेंट मैसेजिंग एप व्हाट्सएप अपनी प्राइवेसी पॉलिसी में बड़ा बदलाव कर रहा है । अगर आप ‘यूरोपीय क्षेत्र’ के बाहर या भारत में रहते हैं तो वॉट्सऐप कि नई प्राइवेसी पॉलिसी आपके लिए समस्या का कारण बन सकती है ।

अगर आप वॉट्सऐप इस्तेमाल करना जारी रखना चाहते हैं तो आपके लिए इन बदलावों को स्वीकार करना अनिवार्य होगा । वॉट्सऐप प्राइवेसी पॉलिसी और टर्म्स में बदलाव की सूचना एंड्रॉइड और आईओएस यूज़र्स को एक नोटिफ़िकेशन के ज़रिए दे रहा है ।

इस नोटिफ़िकेशन में साफ़ बताया गया है कि अगर आप नए अपडेट्स को आठ फ़रवरी, 2021 तक स्वीकार नहीं करते हैं तो आपका वॉट्सऐप अकाउंट डिलीट कर दिया जाएगा ।

यानी प्राइवेसी के नए नियमों और नए शर्तों को मंज़ूरी दिए बिना आप आठ फ़रवरी के बाद वॉट्सऐप इस्तेमाल नहीं कर सकते । व्हाट्सएप ने अपनी प्राइवेसी पॉलिसी को स्वीकार करने या ना करने का कोई विकल्प नहीं छोड़ा है ।

ज़ाहिर है आपसे ‘फ़ोर्स्ड कन्सेन्ट’ यानी ‘जबरन सहमति’ ली जा रही है ।

-वॉट्सऐप अब आपकी डिवाइस से बैट्री लेवल, सिग्नल स्ट्रेंथ, ऐप वर्ज़न, ब्राइज़र से जुड़ी जानकारियाँ, भाषा, टाइम ज़ोन फ़ोन नंबर, मोबाइल और इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर कंपनी जैसी जानकारियाँ भी इकट्ठा करेगा ।

पुरानी प्राइवेसी पॉलिसी में इनका ज़िक्र नहीं था । इतना ही नहीं आपकी हर बात और सीक्रेट बैंकिंग डिटेल तक की जानकारियां इकट्ठा कर सकता है और उन जानकारियों का उपयोग व अपने बिजनेस को बढ़ाने व विज्ञापन देने के लिए कर सकता है ।

व्हाट्सएप की इस नई प्राइवेसी पॉलिसी के आने के बाद दुनिया के सबसे अमीर व्यक्ति और टेस्ला के संस्थापक एलन मस्क ने अपने ट्विटर अकाउंट पर लोगों से सिग्नल मैसेजिंग ऐप को यूज करने के लिए कहा है ।

व्हाट्सएप की इस नई प्राइवेसी पॉलिसी के आने के बाद लोग सोशल मीडिया पर नई प्राइवेसी पॉलिसी की जमकर आलोचना कर रहे हैं । इसके साथ ही टेलीग्राम और सिग्नल जैसे इंस्टेंट मैसेजिंग एप को दुनिया भर में तेजी से डाउनलोड किया जा रहा है ।